शाह बोले- मिलकर लड़ेंगे ,2019 की तैयारी के लिए बादल से मिले शाह

0
121

चंडीगढ़.केंद्र में सरकार बनने के 4 साल बाद वीरवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह सहयोगी शिअद के नेताआें से मिलने चंडीगढ़ पहुंचे। शाह ने शिअद सरपरस्त व पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल से मुलाकात की। 2019 के लोकसभा चुनावों की तैयारी को लेकर चर्चा हुई। लगे हाथ शिअद के सीनियर नेता बलविंदर सिंह भूंदड़ ने बातों-बातों में कहा कि भाजपा हाईकमान को 4 साल बाद अकाली दल की याद आई है। मलूका ने माहौल ठंडा करने के लिए बोल दिया, ‘चलो छोड़ो, पुरानी बातों पर मिट्टी डालो। देर आए दुरुस्त आए।’ शाह ने कहा कि भाजपा पंजाब में हर फैसला शिअद से मिलकर लेगी। चुनाव भी मिलकर लड़ेंगे। शाह इन दिनों ‘संपर्क फॉर समर्थन’ अभियान के तहत सहयोगी दलों के नेताओं से मुलाकात कर रहे हैं।
भाजपा नेताओं ने कहा-चुनाव में सहयोगी से सहारा नहीं मिला

– बादल के साथ सुखबीर बादल, प्रेम सिंह चंदूमाजरा, बलविंदर सिंह भूंदड़, सिकंदर सिंह मलूका आिद ने शाह का स्वागत किया। इस दौरान भाजपा के कुछ नेताओं ने भी कहा कि विधानसभा चुनाव में भी केंद्र से कोई बड़ा नेता पंजाब नहीं आया। अगर विधानसभा चुनाव के दौरान केंद्र से बड़ा सहारा मिला होता तो उनकी हार न होती। बादल ने कहा कि चुनाव में सभी घटक दलों को एकजुट होकर उतरना होगा।

भाजपा सेे दोस्ती पुरानी, मतभेद भुला देने चाहिए, अलायंस रहेगा बरकरार : सुखबीर बादल

– सुखबीर ने कहा कि अब समय लड़ाई लड़ने का है और 2019 के चुनाव में भी एनडीए को 2014 की तरह ही बड़ी जीत हासिल होगी। उन्होंने बताया कि भाजपा और शिअद के बीच इस बात पर सहमति बनी कि दोनों दलों के वरिष्ठ नेताओं पर आधारित एक समन्वय समिति का गठन किया जाए, जोकि जमीनी स्तर पर काम को आगे बढ़ाए। बैठक में दलितों और व्यापारियों के मसलों पर भी लंबी चर्चा बैठक के दौरान हुई।

– इस बात पर भी सहमति बनी कि गुरू नानक देव के 550वें प्रकाशोत्व समारोहों को राष्ट्रीय व गलोबल इवेंट के रूप में मनाया जाना चाहिए। इसके अलावा कृषि, धार्मिक, आर्थिक, राजनीतिक आदि वि विभिन्न विषयों पर चर्चा हुई।

हरियाणा में भाजपा के साथ मिल कर लड़ेंगे चुनाव
– बैठक में हरियाणा में अकाली दल का हमेशा इनेलो के साथ हुए गठबंधन के मुद्दों पर भी चर्चा की गई। सूत्रों के अनुसार लोकसभा चुनाव में अकाली दल इस बार इनेलो के मिलकर चुनाव नहीं लड़ेगा। बल्कि पंजाब की तरह से हरियाणा में भी भाजपा के साथ मिलकर चुनाव लड़ना लगभग तय हो गया है।

– भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने अकाली नेताओं से हुई मीटिंग के दौरान कहा कि केंद्र की हेल्थ इंश्योरेंस योजना में चाहे पंजाब की कैप्टन अमरिंदर सिंह की नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार अपना 35 परसेंट हिस्सा न डाले, लेकिन इस योजना में केंद्र सरकार अपना 65 परसेंट हिस्सा जरूर डालेगी और योजना को बंद नहीं होने दिया जाएगा।

– पूर्व अकाली मंत्री सिकंदर सिंह मलूका ने बताया कि मीटिंग में इस बात पर चर्चा हुई, जिसमें अमित शाह ने बताया कि केंद्र सरकार अपनी हेल्थ योजना के तहत कार्ड भी बनाएगी और अपना हिस्सा डालकर लोगों को सुविधाएं भी देगी।

See More News : http://www.thenews24.in

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here