बयान – अमेरिका की चेतावनी- अपनी जमीन से आतंकी गतिविधियों का समर्थन बंद करे पाक

0
48
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले
  • अमेरिका, इजरायल, रूस, बांग्लादेश समेत दुनियाभर के कई देशों ने आतंकी हमले की निंदा की
  • पाक के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी पुलवामा फिदायीन हमले की जिम्मेदारी

नई दिल्ली. पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में अपना हाथ होने से इनकार किया है। पाक सरकार ने प्रेस रिलीज जारी कर इसे गंभीर चिंता का विषय बताया। दूसरी तरफ अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में पाकिस्तान का नाम लेते हुए कहा कि सभी देशों को आतंक के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव के तहत अपनी जिम्मेदारियां समझनी होंगी और आतंकियों का पनाह और समर्थन देना बंद करना होगा।

अमेरिका ने कहा कि हम आतंकवाद से मुकाबले के लिए हर स्थिति में भारत के साथ खड़े हैं। संयुक्त राष्ट्र द्वारा आतंकी घोषित किए जा चुके पाक के जैश-ए-मोहम्मद ने इस जघन्य हमले को अंजाम दिया। पीड़ितों के परिवार के साथ हमारी संवेदनाएं हैं।

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हमले की निंदा
रूस, इजरायल, फ्रांस, मालदीव, बांग्लादेश, थाइलैंड, श्रीलंका, चेक रिपब्लिक, कनाडा और कई अन्य देशों ने जवानों की शहादत पर दुख जताया है। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने हमले में मारे गए जवानों के परिवारों के प्रति संवेदना जताई। पुतिन ने कहा कि इस हमले के जिम्मेदार लोगों को सजा मिलना बेहद जरूरी है। हम इस हमले की कड़ी निंदा करते हैं।

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कहा कि ढाका हमेशा आतंकी गतिविधियों के प्रति जीरो टॉलरेंस पॉलिसी कायम रखेगा। घायलों के जल्द ठीक होने के लिए हम प्रार्थना करते हैं। वहीं  भारत में इजरायल के राजदूत रॉन माल्का ने हमले में मारे गए जवानों के परिवार के प्रति संवेदना जताते हुए कहा कि हम इस मुश्किल घड़ी में भारत के साथ हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here