उत्तरप्रदेश / मोदी ने लखनऊ में कश्मीरियों के साथ हुई मारपीट की निंदा की, कहा- ऐसी घटनाओं पर कड़ी कार्रवाई हो

0
30
मोदी ने लखनऊ में कश्मीरियों के साथ हुई मारपीट की निंदा की
मोदी ने लखनऊ में कश्मीरियों के साथ हुई मारपीट की निंदा की
  • मोदी ने लखनऊ में कश्मीरी युवकों पर हमला करने वालों पर कार्रवाई के लिए योगी सरकार की तारीफ की
  • मोदी ने मंच से शहीद हुए रामबाबू की याद में ‘शहीद अमर रहें’ का नारा भी लगवाया
  • इससे पहले मोदी ने बनारस में काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर का उद्घाटन किया

लखनऊ. उत्तरप्रदेश के दौरे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को कानपुर पहुंचे। यहां उन्होंने मंच से पुलवामा हमले में शहीद हुए शहर के रामबाबू और बड़गाम में एमआई-17 हेलिकॉप्टर क्रैश में शहीद हुए दीपक पाण्डेय को नमन किया। प्रधानमंत्री ने एक दिन पहले लखनऊ में दो कश्मीरी युवकों के साथ मारपीट की भी निंदा की। उन्होंने मामले पर त्वरित कार्रवाई के लिए योगी सरकार की तारीफ की। साथ ही देश में बाकी जगहों पर भी ऐसी घटनाओं पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने की बात कही। 2

प्रधानमंत्री ने एक दिन पहले जम्मू में हुए ग्रेनेड हमले पर भी बात की। उन्होंने कहा, “सेना की कार्रवाई के बाद आतंकी अपना अंत सामने देख रहे हैं। इससे उनकी बौखलाहट बढ़ रही है। एक दिन पहले उन्होंने जम्मू में जो बम विस्फोट किया, ये आतंकियों और उनके सरपरस्तों की बौखलाहट थी। ऐसे मौके पर हमें देश में हमें भाईचारा और सद्भावना चाहिए। उसी ताकत से मोदी आतंक को कुचलने का फैसला ले पाएगा।”

वाराणसी में किया मंदिर कॉरिडोर का शिलान्यास

इससे पहले मोदी शुक्रवार सुबह ही वाराणसी में थे। यहां उन्होंने काशी विश्वनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना की और मंदिर कॉरिडोर का शिलान्यास किया। मोदी ने कहा कि आज मुक्ति का पर्व है। मंदिर के चारों तरफ काफी इमारतें थीं। भोलेबाबा को भी सदियों से सांस लेने में दिक्कत रही होगी। कई इमारतों को सरकार ने इक्वायर किया।

“मुझे आज गर्व के साथ कहना है कि योगी जी ने यहां जिन अफसरों की टीम लगाई है वह पूरी टीम भक्ति भाव से इस काम में लगी है। दिन-रात इस काम को पूरा करने में लगी है। लोगों को समझाना, इतनी प्रॉपर्टी को अधिगृहीत करना, विरोधियों को भी नियंत्रित करना यह सब काम अफसरों की टोली ने किया है। मैं उनका अभिनंदन करता हूं।”

‘महात्मा गांधी के मन में भी मंदिर को लेकर पीड़ा थी’

मोदी ने कहा कि मैंने आसपास रहने वाले लोगों से आग्रह किया कि बाबा का काम है आप लोग जगह छोड़ दें। करीब 300 प्रॉपर्टी थीं। लोगों ने छोड़ दीं। मैं उन लोगों का भी यहां के सांसद के रूप में उनका अभिनंदन करता हूं। उन्होंने इसे अपना काम मानकर सहयोग किया। यह स्थान सदियों से दुश्मनों के निशाने पर रहा, लेकिन यहां की आस्था ने उसे पुनर्जीवित किया। जब महात्मा गांधी यहां आए थे तो उनके मन में भी पीड़ा था कि बाबा का स्थान ऐसा क्यों? उन्होंने अपनी पीड़ा बीएचयू में व्यक्ति भी की थी। अहिल्या बाई ने सवा दो सौ-ढाई सौ साल पहले इस काम का बीड़ा उठाया था। तब इसे एक रूप मिला। सोमनाथ में भी उन्होंने काफी अहम काम किया।

“बीच के कालखंड में किसी ने बाबा भोलेनाथ की चिंता नहीं की। 40 से अधिक पुरातात्विक मंदिर यहां मिले। आज उन 40 मंदिरों की मुक्ति का अवसर भी आ गया। मुझे लाेगों ने बताया कि सदियों में पहली बार यहां इस साल ऐसी शिवरात्रि मनाई गई। एकदम खुला परिसर था। लाखों की भीड़ थी। अब मां गंगा के साथ भोले बाबा का सीधा संबंध जोड़ दिया है। गंगा से स्नान करते समय अब सीधे भोले बाबा के चरणों में सिर झुका सकते हैं।”

“पुरातत्वीय चीजों को बरकरार रखते हुए आधुनिकता कैसे लाई जा सकती है इसका बहुत ही अच्छा मिलन इस परिसर के निर्माण कार्य में दिखाई देगा। यह पूरा परिसर काशी-विश्वनाथ परिसर के रूप में जाना जाएगा। इससे पूरे विश्व में काशी की एक नई पहचान बनने वाली है। शायद परमात्मा ने यह कार्य मेरे ही नसीब में लिखा था। जब मैं 2014 में यहां आया था तब मुझे लगा कि मैं यहां आया नहीं हूं मुझे बुलाया गया है।”

स्वावलंबी महिलाओं का सम्मान किया
मोदी ने बड़ालालपुर ट्रेड फेसिलिटी सेंटर में महिला दिवस के मौके पर स्वावलंबन की मिसाल बनीं महिलाओं को सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि हमारे देश की महिलाओं का स्वभाव है कि वो स्वयं से ज्यादा परिवार के विषय में सोचती है। खुद की बीमारी और खानपान का भी ध्यान नहीं रखती। लेकिन अब मुझे ये व्यवस्था बदलनी है। महिलाएं रात की शिफ्ट में काम कर सकें, इसके लिए नियमों में बदलाव किया गया है। कामकाजी महिलाओं के छोटे बच्चों के लिए दफ्तर में क्रेच की भी व्यवस्था का नियम बनाया गया है। पिछले साल सहकारिता के क्षेत्र में 31 लाख से अधिक महिलाओं को ट्रेनिंग दी गई और कृषि विज्ञान केंद्रों एवं अन्य क्षेत्रों में भी 9 लाख से अधिक महिलाओं का कौशल विकास किया गया है।

एक स्वयं सहायता समूह से जुड़ी रीना देवी और सुनीता देवी ने सैकड़ो महिलाओं के साथ मिलकर 21 लाख रुपए जुटाए। इस धनराशि का चेक उन्होंने पीएम मोदी को सौंपा। यह पैसा शहीद जवानों के परिवार को दिया जाएगा।

फरवरी में चार बार यूपी आए थे मोदी

मोदी आज कानपुर और गाजियाबाद में जनसभा करेंगे। 25 दिनों में राज्य में यह उनका छठवां दौरा है। फरवरी में वे चार बार बार आए। आखिरी बार वे तीन मार्च को अमेठी आए थे, जहां उन्होंने एके-47 रायफल के लेटेस्ट वर्जन एके-203 की ऑर्डिनेंस फैक्ट्री का लोकार्पण किया था। फरवरी में मोदी ने चार बार उत्तरप्रदेश का दौरा किया था। 11 फरवरी को वे मथुरा और ग्रेटर नोएडा आए थे। 15 फरवरी को झांसी, 19 फरवरी को वाराणसी और 24 फरवरी को गोरखपुर और इलाहाबाद में सभाएं की थीं। मोदी का अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में यह 19वां दौरा होगा।

सपा-बसपा का गठबंधन, कांग्रेस से प्रियंका मैदान में

2014 के चुनाव में एनडीए ने उत्तरप्रदेश में शानदार प्रदर्शन करते हुए 80 में से 73 सीटें जीती थीं, लेकिन इस बार स्थिति काफी बदली हुई है। सपा-बसपा और राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) ने चुनाव से पहले गठबंधन कर लिया है। सपा 37, बसपा 38 और रालोद तीन सीट पर अपने प्रत्याशी उतारेंगे। इस गठबंधन ने कांग्रेस के लिए अमेठी और रायबरेली की सीट छोड़ दी है। साथ ही, राज्य में हुए उपचुनाव में भी भाजपा का प्रदर्शन बेहतर नहीं रहा है। ऐसे में भाजपा और मोदी का पूरा फोकस उत्तरप्रदेश पर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here